Loading

Harimohan Sarawagi – हरिमोहन सरावगी

 

अपने 80 के दशक में चल रहे हरिमोहन सरावगी जी "हरि", हमेशा से कई रोचक कविताओं के रचनाकार रहे हैं। "हरि" एक अच्छे व्यंगकार भी हैं। उन्होंने अपने मित्रों और उनके साथ कार्यरत लोगों पर व्यक्तिगत रचनायें भी लिखी हैं।

Top
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: